शरीर को स्वस्थ्य रखने में दाँतों का अहम योगदान

69
संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए स्वस्थ दाँत आवश्यक होते हैं। इसलिए दांतों की समस्याओं को नजऱअंदाज़ बिल्कुल नहीं करना चाहिए। दांतों की स्वच्छता का मतलब और तरीका हर किसी के लिए अलग होता है। प्रतिदिन दातों को ब्रश से साफ करने के साथ साथ जीभी को भी साफ करना उतना ही आवश्यक माना गया है। ब्रश करने के बाद नमक के पानी से कुल्ला किया जा सकता है। समय की यदि बात करें तो धीमें-धीमें ही ब्रश करें जिससे आपके मसूड़े प्रभावित ना हों। सामान्य तौर पर कम से कम दो मिनट तक ब्रश करना चाहिये और दातों के हर संभव हिस्से को अच्छी तरह साफ करने का प्रयास करें।
         बाजार में विभिन्न प्रकार और लम्बाई के ब्रश उपलब्ध है। अपके दाँतों के आकार अनुसार ब्रश खरीदें। वहीं आपका ब्रश कोई और दूसरा उपयोग न करे यह जरूर ध्यान रखें। अगर आपके दांतों पर काले-भूरे धब्बे नजर आते हैं या फिर खाना दांतों में फंस जाता है, ठंडा-गरम लग रहा है या मसूड़ों से पस आ रहा है दंत चिकित्सक को एक बार अवश्य दिखाना चाहिये जिससे सही समय पर सही उपचार आपके दाँतों को मिले।