Satna

चित्रकूट अपहरण मामला, रीवा आईजी पहुंचे परिवार से मिलने

सतना। चित्रकूट में विगत दिन हुए दो स्कूली बच्चों के अपहरण मामले के बाद रीवा रेंज आईजी चंचल शेखर पीडित परिवार से मिलने पहुंचे। बता दें कि अपहरण मामले को 30 घंटे बीत जाने के बाद भी अभी तक स्कूली बच्चों का कुछ अता पता नहीं चल सा है। वहीं उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश पुलिस, चित्रकूट के जंगलों में एसटीएफ उतरने की रणनीति बना रही है जबकि 50 हजार के इनाम की घोषणा भी की गई है।

धार्मिक नगरी चित्रकूट में हुई इस घटना ने सभी को झकजोर दिया है,बच्चे जहाँ पढ़ते थे वो स्कूल आज पूरी तरह से बंद है। रावत परिवार उत्तर प्रदेश की जिन गलियों में रहता है उन गलियों में सन्नाटा है।घर मे महिलाओं का तांता लगा है।परिजन हर लम्हा खोफ ज़दा है, अपने दोनो मसूम श्रेयांग देवांग की याद कर शाहम जाते है ।परिजन इस घटना पर स्कूल प्रबंधक को पूरी तरह जिम्मेदाद मान रहे है।जो भारी भरकम फीस लेकर सुरकच्छ के दावे करते थे आज उन दावों की पोल खुल गयी है।जिसके चलते दिन दहाड़े उनके घर के दो मासूम तमंचे की नोक पर उठा लिए गए,और उनकी जान साँसत में है।

स्कूल कैम्पस से वो भी स्कूल की बस रुकवाकर जिस तरह तमंचे की नोक पर दो सगे भाइयों का जो एस पी एस स्कूल की यू के जी मे पढ़ने वाले 6 वर्ष के श्रेयांस , देवांश का अपहरण हो गया है उससे अब पूरे चित्रकूट में दहसत का माहौल है कोई भी अभिवावक अपने बच्चों को स्कूल नही भेज रहा है।

घटना के 30 घंटे बीत चुके है परिजन जहां अपने दोनों मासूम के वापस आने की आस लगाए बैठे है, वही उन दो मासूम भाइयो की बहना अपने आँखो के सामने भाइयों का अपहरण होते देख खोफ में है ।और अपहरण कर्ताओ के चंगुल से अपने भाई के रिहा होकर वापस आने की राह देख रही है ।मासूम भाइयो की बहना का दर्द है कि उसकी आँखों के सामने पिस्टल की नोक पर अगवा हुए भाई कब आएंगे ,कल भी नही आये और आज भी नही।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.