धार के एक निजी अस्पताल की लापरवाही के चलते एक युवक को जिंदगी और मौत के बीच झुलना पड़ रहा है। दरअसल धार के ग्राम कोठड़ा कला निवासी सुनील का महाजन हाॅस्पिटल में अपेंडिक्स का आपरेशन किया गया था और इसके बाद उसकी छुट्टी कर दी गई थी लेकिन पाँच माह बाद फिर से दिक्कत होने पर एक बार महाजन हाँस्पीटल में डाॅक्टरों द्वारा युवक का आॅपरेशन कर दिया गया लेकिन कुछ समय ठीक रहने के बाद सुनील को इनफेक्शन हो गया और तीसरी बाद दिक्कत होने पर युवक को महाजन हास्पीटल लेकर आए लेकिन इस बार उन्होंने युवक को बड़ौदा रेफर कर दिया गया। बड़ौदा में भी इलाज ना होने पर परिजन युवक सुनील को अहमदाबाद ले गए लेकिन इंफेक्शन अधिक हो जाने के कारण वहां भी इलाज नही हो सका।

जब मीडिया इस संबंध में महाजन अस्पताल के डाक्टर एमएम महाजन के पास पहुंचा तो एमएम महाजन अपने आप को निर्दोष साबित करते दिखे। सुनील और उसके परिजनो ने जिला पुलिस अधीक्षक को इस पूरे मामले की शिकायत की और अस्पताल पर कार्रवाई की मांग के साथ युवक के इलाज की मांग की है। वहीं दूसरी ओर पुलिस अधिकारी इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जाँच कराने के बाद दोषियो पर कार्रवाई करने की बात कही।

अस्पताल प्रशासन पर सवाल कई खड़े हो रहे हैं लेकिन दूसरी ओर एक युवक की जिंदगी के साथ भी बेहत बड़ा खिलवाड़ किया गया है। अब देखना यह होगा कि पुलिस इस मामले में युवक के हित में क्या कार्रवाई करती है।

Leave a Reply