दमोह में मध्यान्ह भोजन खाने से 3 दर्जन से अधिक बच्चे बीमार हुए

दमोह में मध्यान्ह भोजन खाने से 3 दर्जन से अधिक बच्चे बीमार हुए

  • मध्यान्ह भोजन खाने से 3 दर्जन से अधिक बच्चे बीमार हुए
  • शासकीय माध्यमिक शाला मारूताल का मामला
  • बच्चों का हाल जानने पहुंचे मंत्री जयंत मलैया
  • मां अंजनी स्व सहायता समूह द्वारा संचालित हैं मध्यान्ह भोजन
  • हर कभी दिया जाता है दूषित भोजन: छात्रा
  • पीड़ित विद्यार्थियों को जिला अस्पतला में भर्ती कराया गया

दमोह में मध्यान्ह भोजन खाने से 3 दर्जन से अधिक बच्चे बीमार हुए है जिन्हे तत्काल एम्बुलेंस की मदद् से जिला अस्पताल पहुंचाकर भर्ती कराया गया। मामला शासकीय माध्यमिक शाला मारूताल का है जहां मध्यान्ह भोजन में बच्चों को दूषित भोजन खिलाये जाने की बात सामने आ रही है। बच्चों से मिलने के लिए मंत्री जयंत मलैया भी अस्पताल पहुंचे और बच्चों का हाल चाल जाना।

मीडिया के कैमरे के सामने बच्चों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने स्कूल में भोजन व्यवस्था की सारी पोल खोल दी। बताया गया कि यह कोई पहला मामला नहीं है हर कभी भोजन में कीड़े आ जाते हैं और भोजन की गुणवत्ता भी सही नहीं रहती है। बच्चों ने संचालक पर गंभीर आरोप लगाए हैं। यह मध्यान्ह भोजन व्यवस्था मां अंजनी स्व सहायता समूह द्वारा संचालित हैं।


Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.