Haridwar

हरिद्वार रामानंद इंस्टिट्यूट को संतों के बीच का विवाद थाने कचहरी तक पहुंचा

हरिद्वार की एक संपत्ति को लेकर निरंजनी अखाड़े के संतों में आरोप-प्रत्यारोप की जंग के साथ ही अब मामला थाने कचहरी तक पहुंच गया है और विवाद की जड़ रामानंद इंस्टिट्यूट है। अपने को रामानंद इंस्टिट्यूट का चेयरमैन बताने वाले रामानंद पुरी ने अखाड़ा परिषद् के अध्यक्ष नरेंदर गिरी के विरुद्ध ज्वालापुर थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है। साधु रामानंद पुरी की गतिविधियों को देखते हुए उन्हे हटाकर अखाड़े के ही दूसरे संत रविंद्रपुरी को चेयरमैन बना दिया गया है।

हरिद्वार SSP का क्या कहना है ?

हरिद्वार एसएसपी कृष्ण कुमार वीके ने बताया कि नरेन्द्र गिरी जी की तरफ से गबन का मुकदमा दर्ज हुआ है। अब रामानंदपुरी जी की ओर से मुकदमा दर्ज हुआ है। बताया गया कि क्राइम रोकने के लिये पुलिस सर्तक है। लेकिन आमआदमी की तरह वह भी इस विषय को लेकर चिंतित हैं।

0 comments on “हरिद्वार रामानंद इंस्टिट्यूट को संतों के बीच का विवाद थाने कचहरी तक पहुंचा

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.